कोडिंग क्या है

यदि आप internet use करते हैं और internet, computer technology में रूचि रखते हैं तो आपन कभी न कभी coding के बारे में जरूर पढ़ा या सुना होगा लेकिन क्या आपको पता है की coding क्या है और coding के फायदे क्या हैं और coding क्यों किया जाता है coding से क्या बनाया या develop किया जाता है, यदि नहीं पता है तो शायद आपको ये जानकर हैरानीं हो की आप जो mobile/computer इत्यादि use करते हैं वो सभी coding द्वारा ही बनाये गए होते हैं।

तो आज हम इसी बारे में जानकारी हासिल करेंगे की coding क्या है और coding कैसे सीखें, coding के फायदे क्या है इत्यादि, क्यूंकि जब आप कोई भी technical product develop करने के बारे में search करेंगे तो सभी जगहों पर एक word common होता है जोकि है coding, क्यूंकि technology पूरी तरह से computer based है फिर चाहे वो phone हो website, app, tablet, software, इत्यादि हों लेकिन सभी में computer technology इस्तेमाल होती है और जिस तरह से इंसानों की language “hindi, english” इत्यादि होती है उसी तरह से computer की भी एक language होती है।

और और सभी technology product computer language को ही समझते हैं और उनके द्वारा दिए हुए command पर ही कार्य करते हैं, फिर चाहे उसे computer language, programming language या coding कुछ भी कह सकते हैं सभी एक ही हैं और यदि आप अपना blog start करना चाहते हैं या website start करना चाहते हैं तो आपको coding की जरुरत पड़ सकती है, तो चलिए जानते हैं की coding क्या है और इससे क्या क्या करना possible है।

कोडिंग क्या है | What is coding in hindi

किसी भी प्रकार के code लिखने, code में हेर फेर करने को coding कहा जाता है फिर वो सिर्फ computer में ही नहीं बल्कि किसी भी industry में हो सकता है लेकिन ऐसा बहुत कम ही होता है और खासकर coding, computer code लिखने की process को कहा जाता है coding के जरिये ही सभी पूरा computer sciene work करता है जैसे की आप की भी चीजे का example ले सकते हैं जैसे की Google, Facebook, YouTube, Amazon, Apps, Software इत्यादि सभी coding द्वारा ही बनाये जाते हैं।

फिर चाहे कोई company छोटी हो या बड़ी यदि उसमें computer technology का इस्तेमाल किया जाता है तो उन्हें coding की जरुरत पड़ेगी, जैसे की आप space agencies, nasa isro इत्यादि का भी example से सकते हैं।

हालाँकि coding को ही programming language कहा जाता है लेकिन इन्हे कुछ बातों का ध्यान रखते हुए devide भी किया जा सकता है, कहा जा सकता है क्यूंकि computer programming language कई तरह की होती हैं जैसे की java, php, python, c, c++, css, html इत्यादि लेकिन coding सिर्फ किसी एक programming language से नहीं किया जाता है बल्कि coding के लिए multiple programming language का इस्तेमाल किया जाता है।

क्यूंकि सिर्फ किसी एक programming language से coding करके कोई भी program create नहीं किया जा सकता है बल्कि coding में जरुरत के हिसाब से विभिन्न प्रकार की programming languages का इस्तेमाल किया जाता है जैसे की आप Google से समझ सकते हैं, Google कई सारी programming languages से बनाया गया है जैसे की C, C++, Go, Java, Python, Node.

आइए fix नहीं रहता है की किस program के लिए कौन सी programming languages का इस्तेमाल करना है बल्कि जरुरत के हिसाब से ही multiple programming language का coding में इस्तेमाल किया जाता है जैसे की आप दूसरा example Facebook का ले सकते हैं,facebook भी कई programming language का इस्तेमाल करता है जैसे की PHP, Python, C++, इत्यादि।

तो यदि आप भी deveoper बनना चाहते हैं आपके लिए ये जानकारी बहुत ही ज्यादा जरुरी है की coding क्या है क्यूंकि चाहे कोई computer program develop करना हो ये already developed program पर कार्य करना हो coding स्किल बहुत जरुरी है और ऐसा नहीं है की coding से सिर्फ अच्छे कार्य ही किये जाते है बल्कि बुरे कार्य भी किये जाते हैं, जैसे की hacking,

coding कैसे की जाती है

वैसे तो coding के लिए ide की जरूरत होती है जिससे आप easily coding कर सकते हैं और ide आपको result भी दिखायेगा की आपके द्वारा लिखे गए code से क्या program बना है लेकिन यदि programming की files बनाने की बात हो तो आप generally notepad से भी बना सकते हैं क्यूंकि notepad सभी तरह की files create करने  में capable होता है लेकिन यदि आप notepad के जरिये कोई coding करते हैं तो उसका result नहीं देख पाएंगे और ना ही ये पता कर पाएंगे की आपके code में कोई error है या नहीं।

हाँ लेकिन यदि आप चाहें तो html programming language की coding notepad से कर सकते हैं और .html के साथ उसे save कर सकते हैं और उसका result देखने के लिए आप उस file को किसी browser में open कर सकते हैं।

कोडिंग सीखना

वैसे तो कुछ समय पहले तक coding सीखना hard होता था क्यूंकि उस time coding सीखने के बहुत अधिक option नहीं होते थे लेकिन इस time coding सीखने के ढेरों option मौजूद हैं और इस time online system, study इस time एक बहुत बड़ा source बन चुका है।

offline

ये तो study का primary source है जिसके लिए आप किसी programming institute को join कर सकते हैं या फिर यदि अभी आप 12th complete किये हैं तो आप software engineering  बढ़ सकते हैं जिसमें आपको computer science के बारे में पढ़ाया जायेगा और coding के बारे में भी पढ़ाया जायेगा।

लेकिन उसमें आपको coding master नहीं बनाया जायेगा और यदि आप coding master बनना चाहते हैं तो आपको specially programming institute join करना होगा  जिसमें आपको उस specific programming language के  बारे में बताया जायेगा और trained किया जायेगा।

चूंकि आप किसी institute/college से coding सीखेंगे तो जाहिर सी बात है की आपको fee भी देनीं होगी लेकिन यदि आप चाहें तो दूसरा option भी choose कर सकते हैं जोकि है online

online

यदि आप coding सीखना चाहते हैं लेकिन आप किसी institute या college को नहीं join कर सकते हैं तो आप online coding सीख सकते हैं बहुत सी ऐसी websites हैं जोकि specially coding ही सिखाती हैं, और वो भी free में या फिर आप चाहें तो coding tutorials के app download कर सकते हैं और सीख सकते हैं।

या फिर चाहें तो youtube पर भी coding सीख सकते हैं लेकिन हम suggest करेंगे की coding सीखने के लिए youtube के बजाय programming सिखाने वाली websites का इस्तेमाल करें क्यूंकि उनपर आप tutorial पढ़ने के साथ साथ pratical भी कर सकते हैं।

कौन सी programming language सीखें

ये point काफी ज्यादा matter करता है क्यूंकि एक beginner के लिए coding को समझना काफी ज्यादा hard हो सकता है  और यदि बात की जाये सबसे आसान programming language की तो वो है html, यदि आप अपनीं coding की journey html से करते हैं तो आप coding को अधिक easily समझ पाएंगे लेकिन यदि आप html नहीं सीखना चाहते हैं तो आप c, c++ से सीखना start कर सकते हैं।

क्यूंकि यदि आपको coding की vishesh जानकारी नहीं है तो यदि आप direct java,. php इत्यादि सीखते हैं तो ये आपके लिए काफी ज्यादा hard हो सकता है।

लेकिन programming सीखने से पहले आपको ये भी तय करना होगा की आप किस purpose से programming सीखना चाहते हैं, हाँ हमें पता है की almost 80% सिर्फ इसलिए coding सीखते हैं ताकि कोई अच्छी job हासिल कर सकें तो ऐसे में यदि आपको सिर्फ किसी एक programming language का knowledge है तो भी आप job हासिल कर सकते हैं लेकिन यदि आप खुद से कुछ, कोई product develop करना चाहते हैं तो आपको कई सारी programming languages की जरुरत पड़ेगी।

Programmer की salary

Programmer की salary कई सारी बातों पर depend करता है, सबसे पहली चीज तो यदि वो कोई job करता है तो ये depend करता है की वो किस product के लिए कार्य करता है की company में कार्य करता है, और ये भी depend करता  है की वो programmer coding में कितना expert है, एक programmer बहुत ही आसानीं से 50,000+ Monthly पा सकता है तो ये तो बात हो गयी ऐसे programmers की जोकि job करना चाहते हैं।

लेकिन जो programmer अपना खुद का business करना चाहते हैं उनके बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है की वो कितना earn कर सकते हैं क्यूंकि मान लीजिये आप एक programmer हैं और आप अपना खुद का कोई product develop करना चाहते हैं तो सबसे पहली चीज तो इसमें थोड़ा time लग सकता है क्यूंकि कोई भी computer program deveop करना बहुत आसान नहीं होता है।

और यदि आप अपना product develop करते हैं तो आप काफी ज्यादा earning कर सकते हैं जितना की job से कभी भी नहीं कमा सकते हैं, लेकिन इसके लिए आपको कोई best program develop करना होगा जिसका इस्तेमाल करना लोग पसंद करें, और आपका program (App, Software, website) जितना अधिक traffic पायेगा आप उतना ही अधिक earn करेंगे।

एक सफल coder/programmer बनना

सबसे पहली चीज तो coding कोई ऐसा subject नहीं है की जिसे आप theory के जाइये सीख सकें क्यूंकि coding में बहुत अधिक lines code लिखने होते हैं जिसके लिए practical करना बहुत जरुरी होता है, coding एक ऐसी चीज है जिसे practical से ही improve किया जा सकता है इसलिए यदि आप एक best programmer बनना चाहते हैं तो आपको अधिक से अधिक practical करने की जरुरत होगी।

क्यूंकि Practise makes a man perfect” So जाहिर सी बात है की आप एक दिन में तो एक अच्छे programmer नहीं बन पाएंगे बल्कि आपको अच्छा programmer बनने के लिए काफी ज्यादा मेहनत करनीं होगी।

Coding का इस्तेमाल कुछ basic products में

website develop करने में

यदि आप अपनीं website बनाना चाहते हैं तो आपको ढेरों cms मिल जायेंगे जिनके इस्तेमाल से webite launch की जा सकती है और वो भी सिर्फ कुछ ही minutes में लेकिन वो एक ऐसा program होता है जोकि हर तरह के business purposes के लिए better नहीं हो सकता है इसलिए कुछ conditions में manully भी website बनानीं पड़ सकती है और इस तरह की sites को hard coded site भी कहा जाता है क्यूंकि किसी भी website को code करके manually बनाना काफी hard होता है।

और  किसी cms का इस्तेमाल करके website create किया जाता है तो आपको coding की जरुरत पड़ सकती है जैसे की site में कुछ changes के लिए या कुछ add करना हो तो

App develop करने में

हर कोई mobile use करता है और उसमें विभिन्न प्रकार के apps install और use करता है definitely आप भी करते होंगे लेकिन क्या आपनें कभी सोचा की आखिर app कैसे बनाया जाता है, जी हाँ app भी coding के जरिये ही बनाया जाता है और एक app create करने में million line के code लिखने पड़ते हैं हालाँकि ये इस बात पर भी depend करता है की वो app किस type का है क्यूंकि कुछ app बहुत अधिक lines की coding से चलते हैं तो बहुत से app कम line के code की recruitment करते हैं।

जैसे की आप google chrome browser के बारे में विचार कर सकते हैं जोकि 60,00,000 line  के code से run करता है।

Coding Error

ये coding की बहुत ही common सी बात है जोकि एक programmer बहुत ही अच्छे से जानता और समझता है, क्यूंकि यदि code में कोई error रहेगा तो code work नहीं करेगा,

और सिर्फ एक प्रयाश में कोई भी program बिलकुल perfect नहीं बनता है बल्कि उसपर निरंतर कार्य किया जाता है और उसे fix किया जाता है, और फिर भले ही बनाया गया program अच्छे से work कर रहा हो लेकिन उसके बाद भी उसमें बहुत सारे error होते हैं जिसे कई update में fix किया जाता है, Coding kya hai।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

कोडिंग कैसे सीखें?

यदि आप कोडिंग सीखना चाहते हाय तो आपके लिए कई सारे विकल्प मौजूद हैं इनमें से सबसे पहले आता है वेबसाइट ऑनलाइन आपको कई सारी वेबसाइट मिल जाएगी जैसे कि w3school एक सबसे ज्यादा फेमस वेबसाइट है आप कोडिंग सीखने के लिए w3school का इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर आप चाहे तो यूट्यूब पर भी देखकर कोडिंग सीख सकते हैं लेकिन प्रैक्टिकल करने के लिए आपके लिए w3school सबसे बेस्ट रहेगा।

आप ऑनलाइन काफी हद तक कोडिंग सीख सकते हैं लेकिन यदि आप एक्सपर्ट को कोडर बनना चाहते हैं तो आपको किसी कोडिंग इंस्टीट्यूट को ज्वाइन करना होगा क्योंकि आप ऑनलाइन पूरी तरह से एक्सपर्ट को कोडर नहीं बन पाएंगे।

तो  आपको पूरी जानकारी मिल चुकी है की कोडिंग क्या है हमें उम्मीद है की आपको हमारा ये article आपको पसंद आया होगा की coding kya hai, क्यूंकि coding ही एक ऐसा source होता है जोकि computer hardware को control करता है, तो यदि आपको article अच्छा लगा हो तो इसे अपने friends के साथ share करें और उन्हें भी बताएं What is coding in hindi.

Leave a Comment

एप्सोल हिंदी